For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

राइंका दौलाघट के विद्यार्थियों ने दिया प्रकृति को संरक्षित करने का संदेश

06:49 PM Jan 24, 2024 IST | CNE DESK
राइंका दौलाघट के विद्यार्थियों ने दिया प्रकृति को संरक्षित करने का संदेश
भाषण में मयंक प्रथम, निशा द्वितीय व अंशिका तृतीय
Advertisement
भाषण में मयंक प्रथम, निशा द्वितीय व अंशिका तृतीय

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा। मेरा गांव मेरा वन अभियान के तहत राजकीय इंटर कॉलेज दौलाघट (अल्मोड़ा) में छात्र-छात्राओं की भाषण प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। जिसमें मयंक जोशी, निशा घड़िया व ,अंशिका रावत क्रमशः प्रथ ,द्वितीय व तृतीय रहे।

Advertisement

दौलाघट के विद्यार्थियों ने दिया प्रकृति को संरक्षित करने का संदेश
दौलाघट के विद्यार्थियों ने दिया प्रकृति को संरक्षित करने का संदेश

हंस फाउंडेशन के द्वारा उत्तराखंड के गढ़वाल और कुमाऊ मंडल के दस विकासखंडों के एक हजार गांव मे वनाग्नि शमन एवं रोकथाम परियोजना का संचालन किया जा रहा है। वनाग्नि रोकथाम हेतु जन जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन वृहद स्तर पर किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत मेरा गांव मेरा वन अभियान के तहत राजकीय इंटर कॉलेज दौलाघट (अल्मोड़ा) में भाषण प्रतियोगिता हुई। इसके माध्यम से वनों को आग से होने वाले दुष्प्रभावों, जलवायु परिवर्तन और प्रकृति को संरक्षित करने का संदेश दिया गया।

Advertisement

हंस फाउंडेशन के परियोजना समन्वयक रजनीश रावत के द्वारा परियोजना के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए वनों का महत्व बताया गया। वनों के संरक्षण मे सहयोग करने को कहा गया। तत्पश्चात वन विभाग के वन दरोगा हरेंद्र सिंह सतवाल ने वनों की आग से हो रहे नुकसान के बारे मे बताया व वनाग्नि की समस्या के बारे मे चर्चा की। प्रधानाचार्य चंदन पोखरिया ने बताया कि वन हमारे लिए जीवनदायक हैं इसलिए वन की रक्षा हमारे जीवन की प्राथमिकता होनी चाहिए। अन्य लोगों को भी जागरूक करने को कहा।

भाषण प्रतियोगिता के निर्णायक अनीता आर्या, राजेंद्र परिहार, चंद्रेश पंत ने विचार रखे। कार्यक्रम में हंस फाउंडेशन के ब्लॉक समन्वयक चंद्रेश पंत, दीपक ओली, शंकर कुमार, वन विभाग से हरेंद्र सिंह सतवाल व आनंद सिंह परिहार आदि उपस्थित रहे।

Advertisement

Advertisement