For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

हल्द्वानी : यहां स्थलीय निरीक्षण को निकलीं डीएम वंदना, अधिकारियों को दिए निर्देश

11:15 PM May 03, 2024 IST | CNE DESK
हल्द्वानी   यहां स्थलीय निरीक्षण को निकलीं डीएम वंदना  अधिकारियों को दिए निर्देश
Advertisement

हल्द्वानी | जिलाधिकारी वंदना ने शुक्रवार को पसोली-ओखलढूगा-हैडाखान-स्यूडा- साननी-खन्सयू-पतलोट-अघौडा-मिडार लोनिवि मोटर मार्ग का स्थलीय निरीक्षण किया। डीएम ने मानसून से पूर्व लोनिवि नैनीताल को झाड़ी कटान, नालियों की सफाई के निर्देश दिए। कहा कि विभागीय अधिकारी सुनिश्चित कर ले कि हर हाल में जो नाली, कौज वे बंद पड़े है उन्हें मानसून से पहले साफ कराकर खोल दिया जाए जिससे आसानी से पानी की निकासी हो सके। इसके लिए सभी एसडीएम अपने क्षेत्रों में झाड़ी कटान, नाली, कल्वर्ट, कौज वे सफ़ाई का निरीक्षण कर रिपोर्ट देंगे।

Advertisement

उन्होंने जल संस्थान, विद्युत विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि क्षेत्र में लोगों को बिजली, पानी की समस्या न हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर उच्च अधिकारी स्वतः संज्ञान लेकर गुणवत्ता पूर्वक निस्तारण करना सुनिश्चित करे।

Advertisement

काठगोदाम-हैड़ाखान मोटर मार्ग पर पसोली के पास निरीक्षण के दौरान डीएम ने क्षतिग्रस्त मार्ग के सुधारीकरण के लिए भारत सरकार को पूर्व में भेजे गये प्रस्ताव के संबध में लोनिवि नैनीताल को डीएफओ के साथ संयुक्त रूप से सर्वे कर पुनः संशोधित प्रस्ताव तैयार कर भेजने के निर्देश दिए। पनियाबोर पहुंचने पर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को बताया कि दो गधेरों के जल प्रवाह से भू-कटाव हो रहा है, जिसके कारण भविष्य में भूस्खलन होने का खतरा बना हुआ है तथा गांव का अस्तित्व खतरे में है।

जिलाधिकारी ने भूवैज्ञानिक और सिंचाई विभाग को संयुक्त रूप से गधेरे व इस क्षेत्र का सर्वे कर मानसून काल से पूर्व तात्कालिक सुरक्षात्मक कार्य का आकलन तैयार करने को कहा जिससे ससमय उपचारात्मक कार्य किया जा सके। इसके साथ ही दीर्घालिक योजना हेतु भी प्रस्ताव तैयार कर शासन को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

Advertisement

ओखलढुंगा क्षेत्र में पहुचने पर ग्रामीणों ने बताया कि स्वास्थ्य केन्द्र में एक फार्मासिस्ट की तैनाती है जो की दो बजे तक उपलब्ध रहते है। वर्षाकाल में सड़क मार्ग अवरूद्व हो जाने से आपात समय में क्षेत्रवासियों को स्वास्थ्य संबंधी उपचार हेतु हल्द्वानी आवागमन में काफ़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिलाधिकारी ने सीएमओ को मानसून सीजन में ओखलढुंगा स्वास्थ्य केन्द्र में ही स्वास्थ सुविधा सुदृढ़ीकरण हेतु कार्ययोजना तैयार के निर्देश दिए। कहा की प्रयास किया जाए की मानसून अवधि तक केन्द्र की सुविधाओं को ही सुदृढ कर क्षेत्रवासियों को यहीं बेहतर चिकित्सा उपचार दिया जाए जिससे लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

वर्तमान हैड़ाखान मार्ग अवरूद्ध हो जाने पर आमजन रौसिल और वियजपुर-पहाड़पानी को वैकल्पिक मार्ग के रूप में उपयोग करते है। इन मार्गों के तात्कालिक सुधारीकरण हेतु आकलन तैयार करने के निर्देश ईई लोनिवि नैनीताल को दिये जिससे तत्काल कार्य को चालू कर लोगों को राहत दी जा सके।

Advertisement

जिलाधिकारी ने विद्युत एवं जलसंस्थान के अधिकारियों को निर्देश दिये कि क्षेत्र में पानी एवं बिजली की समस्यायें आने पर शीघ्र सुचारू किया जाए ताकि जनता को अनावश्यक परेशानियों का सामना ना करना पड़े। जल संस्थान के अधिकारियों ने बताया कि असामाजिक तत्वों द्वारा पेयजल लाईनों मे छेड़खानी की जाती है जिससे क्षेत्र में पेयजल संकट हो जाता है। विभाग द्वारा ग्रामीणों को रोस्टर के अनुसार पानी दिया जाता है ताकि सभी ग्रामीणों को आसानी से पेयजल उपलब्ध हो सके। डीएम ने कहा इस प्रकार के अराजकतत्वों द्वारा पानी की लाईनों में छेड़खानी करते पाये जाने पर सम्बन्धित के खिलाफ विभाग कार्यवाही करें।

छड़गाम तल्ला में निरीक्षण के दौरान कार्यशील जय दुर्गा मां स्वयं सहायता समूह द्वारा तुलसी और तेज पत्ते का तेल निकालने का कार्य किया जा रहा था और यहां पर पालिहाउस में लेमनग्रास, रोजमेरी, केमोमाइल, तुलसी आदि अन्य वनस्पतियों की नर्सरी तैयार की जा रही है। जिलाधिकारी ने इन उत्पादों को संग्रहित करने, बेहतर मार्केट और आउटलेट खुलवाने के लिए एपीडी को निर्देशित किया। जिससे एकत्रित उत्पादों का उचित दाम किसानों को मिले और उनकी आर्थिकी भी मजबूत हो।

विगत माह डालकन्या में कार दुर्घटना में 10 लोगों की मौत पर जिलाधिकारी ने कहा कि उन परिवारों को हर सम्भव आर्थिक सहायता दी जायेगी। जिलाधिकारी ने शिक्षा महकमे के अधिकारियों को यथा शीघ्रबच्चों का स्कूल में दाखिला कराने के निर्देश दिये। साथ ही पीड़ित परिवार के लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने की बात कही जिस पर दो परिवारों ने बकरी पालन एवं मछली पालन पर सहमति दी। परिवारों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए एपीडी को समन्वय करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान एसडीएम धारी के एन गोस्वामी, ईई लोनिवि रत्नेश सक्सेना, तहसीलदार मनीषा मरकाना सहित सम्बन्धित अधिकारी और आमजन मौजूद रहे।

Advertisement