For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

दुःखद : खाई में गिरी बस, 12 की मौत, 15 घायल

11:10 AM Apr 10, 2024 IST | CNE DESK
दुःखद   खाई में गिरी बस  12 की मौत  15 घायल
Advertisement

रायपुर | छत्तीसगढ़ में रायपुर-दुर्ग रोड पर मंगलवार रात कर्मचारियों से भरी बस 50 फीट गहरी खाई में गिर गई। दुर्ग कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी ने 12 लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। इससे पहले 14 लोगों की मौत होने की सूचना थी। हादसें में 15 लोग घायल हुए हैं। इनमें 10 की हालत गंभीर है। मृतकों में 3 महिलाएं भी शामिल हैं। बस में करीब 40 लोग सवार थे। ये सभी केडिया डिस्टलरी के कर्मचारी थे।

Advertisement
Advertisement

कलेक्टर ने हादसे की मजिस्ट्रेट जांच कराने के आदेश कर दिए हैं। वहीं केडिया डिस्टलरी ने मृतकों के आश्रितों को 10-10 लाख रुपए, एक सदस्य को नौकरी और घायलों के पूरे इलाज का खर्च उठाने की बात कही है। घायलों को एम्स, एपेक्स, ओम और अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक, हादसा कुम्हारी में खपरी रोड पर मुरुम खदान में हुआ है। केडिया डिस्टलरी के कर्मचारी प्लांट से बस में सवार होकर लौट रहे थे। हादसे के दौरान बस में 40 लोग सवार थे। बताया जा रहा है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। टॉर्च और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर रेस्क्यू किया गया।

कर्मचारियों को फैक्ट्री से लेकर निकली थी बस

मंगलवार रात करीब 8 बजे यह बस केडिया डिस्टलरी प्लांट से कर्मचारियों को लेकर निकली थी। इसी दौरान खदान पारा में 50 फीट गहरी खाई में गिर गई। स्थानीय लोगों की मदद से बस में फंसे घायलों को निकालने की कोशिश शुरू हुई। घायलों को कुम्हारी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। वहीं, गंभीर रूप से घायल 9 लोगों को रायपुर AIIMS लाया गया। दूसरी तरफ, घटनास्थल पर बस को क्रेन की मदद से बाहर निकाला गया। इसमें स्थानीय लोगों ने भी रेस्क्यू टीम की मदद की।

Advertisement

अंधेरा, संकरी रोड और रेलिंग भी नहीं

हादसे वाली जगह पर काफी अंधेरा था। स्ट्रीट लाइट्स तक बंद पड़ी थीं। यहां रोड भी कम चौड़ी है। सड़क किनारे खाई होने के बाद भी रेलिंग नहीं लगी थी। बताया जा रहा है कि बस बेकाबू हो गई और सड़क किनारे लगे पत्थर को तोड़ती हुई नीचे जा गिरी।

हादसे में इन 12 लोगों की गई जान

हादसे में विधु भाई पटेल, पुष्पा देवी पटेल, शांति बाई देवांगन, राम बिहारी यादव, कमलेश देशलहरे, सत्या बाई निषाद, राजूराम ठाकुर, परमानंद तिवारी, अमित सिन्हा, मनोज ध्रुव, कृष्णा, त्रिभुवन पांडेय की मौत हो गई।

Advertisement

अपनों की तलाश में भटकते मिले परिजन

हादसे की खबर मिलने के बाद कर्मचारियों के परिजन अस्पताल पहुंचे। इस दौरान एक युवक अपने बड़े पिता जी को ढूंढ़ने के लिए रायपुर एम्स पहुंचा। उसने बताया कि बीएल दुबे, जो कि केडिया डिस्टलरी में काम करते हैं, उनका पता नहीं चल रहा है। एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल चक्कर लगा रहे हैं।

डिप्टी CM ने कहा- दोषियों पर होगी कार्रवाई

डिप्टी CM विजय शर्मा घायलों का हाल जानने के लिए रायपुर AIIMS पहुंचे। उन्होंने घायलों का बेहतर से बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि घायलों और परिजन ने बताया है कि बस की लाइट ही नहीं जल रही थी। इसके चलते बस स्लिप होकर खाई में जा गरी। जांच के बाद बाकी बातें साफ होंगी। डिप्टी CM ने कहा- यह भी जांच होगी कि फैक्ट्री ने कर्मचारियों के सुरक्षा के क्या उपाय किए थे, उनका बीमा था या नहीं। दोषी पर कार्रवाई की जाएगी।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने जताया दुःख

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने हादसे पर दुख जताया। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर लिखा- 'छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में एक बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से अनेक लोगों के हताहत होने का समाचार बहुत दुखद है। सभी शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहन संवेदनाएं! मैं घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा- 'छत्तीसगढ़ के दुर्ग में हुआ बस हादसा अत्यंत दुखद है। इसमें जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है, उनके प्रति मेरी संवेदनाएं। इसके साथ ही मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। राज्य सरकार की निगरानी में स्थानीय प्रशासन पीड़ितों की हरसंभव मदद में जुटा है।'

सीएम विष्णु देव साय ने लिखा- 'दुर्ग के कुम्हारी के पास निजी कंपनी के कर्मचारियों से भरी बस के दुर्घटनाग्रस्त होने की दुःखद सूचना प्राप्त हुई। मैं ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को शांति एवं शोकसंतप्त परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।'

भूपेश बघेल ने लिखा- 'कुम्हारी में कर्मचारियों से भरी एक बस खदान में गिर गई। सूचना मिली है कि कई लोगों की जानें गई हैं और कई गंभीर रूप से घायल हुए हैं। मृतकों के परिजनों के प्रति मैं गहन संवेदना व्यक्त करता हूं। मैंने प्रशासन से घायलों के समुचित इलाज का प्रबंध करने का अनुरोध किया है।'

Advertisement