For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

हल्द्वानी में अतिक्रमण पर फिर चलेगा पीला पंजा, अब यहां गरजेंगे बुलडोजर

07:12 PM May 19, 2024 IST | CNE DESK
हल्द्वानी में अतिक्रमण पर फिर चलेगा पीला पंजा  अब यहां गरजेंगे बुलडोजर
demo pic
Advertisement

सीएनई रिपोर्टर, हल्द्वानी। नगर क्षेत्र में अतिक्रमण पर एक बार फिर वन विभाग बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है। बनभूलपुरा के बाद अब बागजाला में वन भूमि से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को अंजाम दिया जाना है। इसके लिए सैकड़ों घरों को नोटिस जारी किए जा रहे हैं। वन विभाग ने एक बड़ी मुहिम चलाने के संकेत दिए हैं।

Advertisement

बता दें कि अतिक्रमण के खिलाफ वन विभाग और प्रशासन ने सख्म रुख अख्तियार किया है। करीब बड़े पैमाने पर घरों को नोटिस जारी करने की प्रक्रिया गतिमान है। इन सभी लोगों को सुनवाई का मौका दिया जाएगा, लेकिन उसके बाद भी कोई ठोस तथ्य न मिलने पर बुलडोजर चलाया जाएगा। बता दें कि तराई पूर्वी वन प्रभाग के गौलापार स्थित बागजाला क्षेत्र में वन विभाग फिर से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू करने जा रहा है। प्रभागीय वनाधिकारी हिमांशु बागड़ी ने मीडिया को बताया कि बागजाला क्षेत्र में बड़े पैमाने पर वन भूमि पर अतिक्रमण हुआ है।

Advertisement

सही जवाब नहीं मिला तो चलेगा बुलडोजर

डीएफओ हिमांशु बागड़ी ने बताया कि यहां करीब 300 कच्चे-पक्के अतिक्रमण है, जिन्होंने वन भूमि पर अतिक्रमण किया है। वन भूमि पर किए गए सभी अतिक्रमणों को चिन्हित करने की कार्रवाई की जा रही है। चिन्हिकरण और नोटिस के बाद भारतीय वन अधिनियम के तहत अतिक्रमण पर कार्रवाई की जाएगी। अतिक्रमणकारियों को सुनवाई का मौका भी दिया जाएगा। यदि वे सही तथ्य नहीं रख पाए तो बुलडोजर के माध्यम से अतिक्रमण ध्वस्त कर दिया जायेगा।

उन्होंने बताया कि गौलापार क्षेत्र के बागजाला क्षेत्र में करीब 100 हेक्टेयर से ज्यादा भूमि पर अतिक्रमण किया गया है। बागजाला क्षेत्र के अलावा अन्य जगहों पर भी वन भूमि पर अतिक्रमण किया गया है, उनको भी चिन्हित करने का काम किया जा रहा है। ज्ञात रहे कि लोकसभा चुनाव 2024 से पहले वन विभाग ने बागजाला क्षेत्र के अलावा का क्षेत्र में बड़े पैमाने पर अतिक्रमण को ध्वस्त किया था। अब पुन: वन विभाग अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाने जा रहा है। जिसका प्रथम चरण बागजाला क्षेत्र होगा। वन विभाग की जमीन पर कच्चे—पक्के जो भी निर्माण किए गए हैं उन्हें तोड़ा जाएगा।

Advertisement

Advertisement