For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

अल्मोड़ा/नैनीताल : आंधी—तूफान ने खूब सताया, बारिश ने बहुत रुलाया

08:29 PM Jun 01, 2024 IST | CNE DESK
अल्मोड़ा नैनीताल   आंधी—तूफान ने खूब सताया  बारिश ने बहुत रुलाया
Almora/Nainital: Storm tormented a lot, rain made me cry a lot
Advertisement

सीएनई डेस्क। उत्तराखंड के मैदानी व पर्वतीय जनपदों में इन दिनों गजब की गर्मी पड़ रही है। मैदानी जनपदों में जहां हीट वेव रिकार्ड तोड़ रही है, वहीं पहाड़ों में आंधी—तूफान बारिश के बादलों को हटा तबही लाने में अमादा हैं। तूफान के चलते अल्मोड़ा व नैनीताल जनपद के कई इलाकों में बिजली के पोल गिरने की सूचना है। जिससे विद्युत आपूर्ति बाधित हो चुकी है।

Advertisement

Advertisement

उल्लेखनीय है​ कि उत्तराखंड के तमाम जनपद इन दिनों भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं। राजधानी देहरादून सहित तमाम मैदानी जनपद भीषण हेड वेव में दहक रहे हैं। ठंडी हवा खाने पहाड़ आने वाले वनाग्नि में झुलस रहे जंगलों की गर्म हवा खाने को विवश हैं। हालांकि गत दो दिनों से बीच—बीच में पहाड़ों में हल्की बारिश से राहत जरूर है।

आंधी—तूफान ने मचा दी अफरा—तफरी

अल्मोड़ा, रानीखेत, सुयालबाड़ी, गरमपानी, खैरना में आज तूफान ने तबाही मचा दी। रानीखेत में जहां तूफान की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत तक हो गई, वहीं संपूर्ण जनपद में बिजली के पोल क्षतिग्रस्त होने से अंधकार छा गया है। सुयालबाड़ी, गरमपानी व खैरना बाजार में भी विद्युत पोल गिरने की सूचना है। जिसके बाद हर तरफ अंधेरा छाया है।

Advertisement

अलबत्ता मौसम का रुख देखते हुए आम लोगों का यही कहना है कि तेज हवा, आंधी—तूफान बादलों को टिकने नहीं दे रहे। जिस कारण बारिश तो नहीं हो रही, लेकिन तूफान काफी नुकसान पहुंचा रहा है।

Advertisement

आंधी—तूफान के बाद दुकान क्षतिग्रस्त, बाल बाल बचा युवक

गरमपानी। भवाली अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग के सुयालबाड़ी बाजार में देर शाम 5 बजे अचानक आंधी—तूफान आने से बाजार में स्थित एक फर्नीचर की दुकान क्षतिग्रस्त हो गई। जिसमें दुकान में बैठा एक युवक समय रहते दुकान से बाहर आ गया, जिससे एक बड़ा हादसा होते होते रह गया।

वहीं दुकान स्वामी मदन सुयाल ने बताया कि आंधी तूफान आने से बाजार में दुकान के साथ साथ कई अन्य लोगो के सामान भी उड़ गए। फिलहाल खैरना बाज़ार में गिरा पेड़ हटा यातायात सुचारू कर दिया गया है। पुलिस, एसडीआरएफ एवं स्थानीय लोगों की सहायता से पेड़ काटा गया।

Advertisement