For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा, देशभर में दीये और आतिशबाजी के साथ मनाई दीवाली

11:07 AM Jan 23, 2024 IST | CNE DESK
राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा  देशभर में दीये और आतिशबाजी के साथ मनाई दीवाली
Advertisement

नई दिल्ली/अयोध्या | सैकड़ों वर्षों के इंतजार के बाद सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भव्य राम मंदिर में प्रभुश्रीराम के बालविग्रह की प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान में शामिल हुए और इसके उपरांत राजधानी दिल्ली समेत देश भर में लोगों ने दीपोत्सव, मिठाई बांटकर और आतिशबाजी कर दीपावली मनायी।

Advertisement

इस अवसर पर राजधानी दिल्ली में सुबह से मंदिरों में पाठ और कीर्तिन शुरू हुआ और बाजारों में सुबह से मिठाई, दीयों और अन्य सामग्री की लोगों की भीड़ देखी गई। दिल्ली में जगह-जगह लंगर और भंडारों का आयोजन किया है। शाम होते-होते पूरी राजधानी दीयों और लाइटिंग से जगमगाने लगी। इसके साथ ही गली मोहल्लों में लोगों ने जमकर आतिशबाजी की और एक दूसरे को शुभकामनाएं देते हुए देखे गये।

Advertisement

अनगिनत दीपों से जगमगाती रामनगरी की शोभा सोमवार शाम देखते ही बन रही थी। अद्भुत, अलौकिक, अविस्मरणीय...कल्पनातीत सौंदर्य को जिसने भी देखा, अपलक निहारता ही रह गया।

प्रभु श्रीराम की नगरी के वासी हों, श्रद्धालु हों या भारत के सुदूर कोने-कोने से आए श्रद्धालु, सभी 'दीप/राम ज्योति' प्रज्ज्वलित कर श्रीराम की प्राण-प्रतिष्ठा के उपरांत अवधपुरी के कण-कण, रज-रज में अपने राम को निहार रहे थे, अपने घर में रामलला की गूंज से हर ओर राम-राम नाम गुंजायमान रहा, सब में राम, जय जय श्रीराम सुनायी दे रहा है। अयोध्या में श्रीरामलला के अपने दिव्य-भव्य मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा के उपरांत शाम को दीपोत्सव मनाया गया। प्रभु के भक्त संकटमोचक हनुमानगढ़ी मंदिर के सामने भी भक्ति में लीन अवधपुरी में यह आयोजन अद्वितीय, अविस्मणीय लगा रहा था। सभी के मन में इस बार अलग ही उमंग, उत्साह और उल्लास दिखाई दे रहा है, क्योंकि आज 500 वर्षों का इंतजार समाप्त हो गया।

Advertisement

अयोध्या दीपोत्सव में आज आस्था, आह्लाद और आत्मीयता के दीप जले। सहज आह्लाद के साथ आत्मीयता के भावों को संजोए हुए आराध्य प्रभु के प्रति आस्था निवेदित करते हुए सरयू तीरे, राम की पैड़ी, मठ-मंदिरों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर जल रहे अनगिनत दीपों के बीच निहाल श्रद्धालुओं का हर्ष, उमंग और अनुभूति हर कोई महसूस कर रहा था। सहज भाव से हो रहे 'राम राम जय राजा राम' 'जय सिया राम' 'सियावर रामचन्द्र की जय' जयघोष के साथ सरयू की लहरों में उठती तरंगें देख ऐसा लगता था कि मानो सरयू मैया भी अपने राम की जयकार कर रही हों।

श्रीराम के इस महाउत्सव पर पूरी अवधपुरी को सजाया गया था। अयोध्या के मंदिरों, छोटी गलियों से लेकर मुख्य मार्गों, सभी सरकारी, धार्मिक भवनों पर तो आकर्षक लाइटिंग की ही गई थी, नगरवासियों ने भी घरों में दीप जलाकर अपने राम को अपने बीच महसूस किया।

Advertisement

प्रतिदिन की भांति सरयू मैया की आरती भी उतारी। इस दौरान आज अलग ही उमंग देखने को मिला। यहां अनेक साधु-संतों के साथ अनेक विशिष्ट जनों द्वारा घाटों पर आरती की गई।

वर्ष 2017 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जब सत्ता संभाली तो दीपोत्सव के भव्य-दिव्य आयोजन की परिकल्पना तैयार की। प्रतिवर्ष इसकी भव्यता बढ़ती चली गई। पिछले वर्ष 2023 में योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला दीपोत्सव भी हर रिकॉर्ड तोड़कर अभूतपूर्व हुआ। इसमें 22.23 लाख दीप प्रज्ज्वलित हुए। हर तरफ बस श्री राम, मेरे राम से अवधपुरी गुंजायमान हो उठी थी। ठीक तीन माह के अंतराल पर आज (22 जनवरी, 2024 को) अयोध्यावासियों ने श्रीराम की प्राण-प्रतिष्ठा पर पुनः दीपावली मनाई। त्रेतायुग की अयोध्या आज अलौकिक दिखी। सभी ने अपने आराध्य के प्रति श्रद्धा के दीप जलाए।

आज प्राण-प्रतिष्ठा के उपरांत शाम सात बजे तक राम की पैड़ी पर प्रोजेक्शन शो का आयोजन किया गया है। इसके बाद यहां पर लेजर शो हुआ। इको फ्रेंडली आतिशबाजी का नजारा भी प्रस्तुत किया जाएगा, जिसे देख हर किसी का मन पुलकित हो उठा।

उत्तर प्रदेश के अध्योध्या, झांसी, मुरादाबाद, कौशांबी, प्रयागराज और देवरिया सहित प्रदेश के सभी जिलों से भव्य कार्यक्रमों के आयोजन किया। सभी जगह मंदिरों को विशेष रूप से सजाया गया, सुंदर कांड और अखंड रामायण के पाठ के साथ साथ भजन कीर्तन हुआ। शाम के समय दीपोत्सव के साथ लोगों ने जगह जगह पर आतिशबाजी कर अपनी खुशी का इजहार किया।

बुंदेलखंड के झांसी से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार छोटे बड़े सभी मंदिरों को विशेष रूप से सजाया गया। प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान मंदिरों में भजन कीर्तन और रामसेवकों द्वारा प्रभु श्रीराम की विशेष आरती की गयी। कहीं मंदिरों में सुंदरकाड का सामूहिक पाठ किया गया तो कहीं अखंड रामायण का आयोजन किया गया। कहीं हनुमान चालीसा के साथ हवन और धार्मिक अनुष्ठान के साथ प्रसाद वितरण किया गया।

महानगर के 60 वार्डों और प्रत्येक मोहल्ले को विशेष रूप से सजाया गया। महानगर के 35 चौराहों को विशेष रूप से सजा धजा कर रामलला के स्वागत को तैयार किया गया विभिन्न बाजारों में लोग रामधुन पर लोग नाचते गाते नजर आये तो जगह जगह पर भंडारों का आयोजन किया गया। महानगर में 16 मंदिरों और जिले में 12 मंदिरों में राम लला प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का लाइव प्रसारण दिखाया गया।

देवरिया जिला प्रभुश्रीराम के स्वागत में राममय हो गया और लोगों में उत्साह का माहौल नजर आया। मंदिरों और घरों को झालरों तथा दीयों से सजाया गया है। शहर में हनुमान मंदिर, देवरही मंदिर, सोमनाथ मंदिर, बालाजी मंदिर, रूद्रपुर के दुग्धदेश्वर नाथ मंदिर, बारीपुर के प्राचीन हनुमान मंदिर सहित आदि मंदिरों में सुबह से ही सुंदरकांड, रामायण और रामनाम जप का आयोजन किया गया है। कई संस्थाओं की ओर से सुबह प्रभातफेरी निकाली गई।

मेडिकल कालेज के छात्रों ने अपने प्राचार्य तथा सहायक प्रोफेसरों के साथ मेडिकल कालेज परिसर में जय श्रीराम का जयघोष करते हुए फेरी लगाये।दीवानी कचहरी परिसर में वकीलों ने सुन्दर कांड का पाठ किये तथा इस दौरान भण्डारे का आयोजन किया गया था। जिसमें तमाम अधिवक्ता सुन्दर कांड का पाठ किये। कलेक्ट्रेट में भी कर्मचारियों तथा अधिकारियों के द्वारा सुन्दर कांड पाठ का आयोजन किया गया था। यहां शाम को अधिकांश घरों में राम ज्योति जलाई जलायी जायेगी।

कौशांबी जिले में अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के भव्य कार्यक्रम का लाइव टेलीकास्ट दिखाया गया। इस आयोजन को लेकर राम भक्तों में बेहद उत्साह देखा गया। गांव से लेकर शहरी क्षेत्र में धार्मिक स्थलों मंदिरों में रंग-बिरंगे गुब्बारे लगाकर सजाया गया। श्री राम के जयकारे से संपूर्ण वातावरण राम मय हो गया।नगर पंचायत दारानगर कड़ा धाम के देवीगंज चौराहे में बाजार जिला मुख्यालय मंझनपुर में दुर्गा देवी मंदिर सिराथू नगर पंचायत में राधा कृष्ण मंदिर में भक्तों ने रामचरितमानस सुंदर कांड का पाठ और कीर्तन भजन किया गया।

मुरादाबाद मंडल में भी इस भव्य आयोजन के लेकर लोगों के बीच गजब का उत्साह देखने को मिला। मुरादाबाद के अलावा अमरोहा जनपद के मंदिरों के साथ ही सरकारी भवनों, प्रमुख चौराहों और बाज़ारों को भव्य तरीके से सजाया गया। वहीं दूसरी ओर गांव-गांव यज्ञ-हवन तथा मंदिरों में रामायण- सुंदरकांड पाठ के साथ भंडारे लगाए गए। अमरोहा के मंडी धनौरा क्षेत्र में यज्ञ-हवन करते हुए ट्रैक्टर ट्रालियों में सवार होकर ग्रामीणों द्वारा हवनकुंड को गांव-गांव घुमाया गया।

संगम नगरी प्रयागराज में भी रामलला के अयोध्या आगमन पर पूरा माहौल राम के रंग में रंगा नजर आया, विशेष रूप से माघ मेले में इसका एक अनूठा ही रूप नजर आ रहा है।माघ मेला क्षेत्र में साधु-संत, कल्पवासी अपने शिविरों में सबसे अधिक राम कथा और रामनाम का जाप कर रहे हैं। संत महात्माओं के शिविर के अलावा प्रशासन द्वारा मेला क्षेत्र में लाडस्पीकर पर रामधुन स्वरलहरी गूंज रही है। जगह-जगह संत महात्माओं के शिविर में अखंड रामायण पाठ, सुंदरकांड पाठ का कार्यक्रम चल रहा है। कल्पवासी अपने शिविरों में राम नाम का भजन कर रहे हैं। मेला क्षेत्र में स्पीकर पर राम भजन, राम कथा और राम आरती विशेषकर “ मेरी झोपड़ी के भाग्य आज खुल जाएंगे, राम आएगे, राम-राम जय राजा राम, राम राम राम जय सीता राम” आदि भजनों से गुंजायमान है।

मेला क्षेत्र के अलावा प्रयागराज महानगर में लहरा रही राम पताकाएं माहौल को भक्तिमय बना दिया है। अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर जिले के सभी मंदिरों पर राम भजन, संकीर्तन, रामायण पाठ आदि चल रहा है। सिविल लाइंस स्थित और संगम क्षेत्र स्थित बंधवा वाले हनुमान मंदिर में भी श्रद्धालु सामूहिक रामायण पाठ चल रहा है। नैनी सेंट्रल जेल में कैदियों के लिए भी रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण कराया गया। यहां बंदियों ने हनुमान चालीसा, सुंदरकांड और भजन-कीर्तन का कार्यक्रम किया।

महाराष्ट्र में जुलूस, प्रार्थना, रोशनी और रंगोली के जरिये अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का जश्न मनाया गया। धर्म, जाति, समुदाय और लिंग से ऊपर उठकर लोगों ने राज्य भर में जुलूस निकाले। घरों में लोगों ने पूजा-अर्चना की और इस समारोह की पहली झलक टीवी स्क्रीन पर दिखाई गई। सड़कों पर लोग मंदिरों के डिज़ाइन और भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान की छवियों वाले झंडों के साथ देखे गए।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने भगवान राम की प्राण-प्रतिष्ठा के लिए सभी को शुभकामनाएं दी।” कोराडी के श्री महालक्ष्मी जगदंबा मंदिर में श्री देवेन्द्र फड़नवीस ने 6,000 किलोग्राम हलवा की तैयारी में भाग लिया। यह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष एवं विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) चन्द्रशेखर बावनकुले और प्रसिद्ध शेफ विष्णु मनोहर की पहल थी।

दुनिया की सबसे बड़ी कढ़ाई (जिसे हनुमान कढ़ाई कहा जाता है) इसी उद्देश्य से बनाई गई है। कढ़ाई अयोध्या भेजी जाएगी। मध्यपश्चिम भारत, मुंबई में इज़रायल के महावाणिज्य दूत, कोबी शोशानी ने भगवान राम की पूजा करने के लिए वडाला राम मंदिर का दौरा किया। उन्होंने कहा,“आज मैंने मुंबई के वडाला में ऐतिहासिक श्री राम मंदिर का दौरा किया।”

देश के प्रमुख उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित निवास एंटीलिया भी दूधिया रोशन से जगमग दिखाई दिया। इसके अलावा विरार रेलवे स्टेशन पर राम मंदिर थीम वाली रंगोली बनाई गई, जबकि समारोह से पहले प्रतिष्ठित बांद्रा-वर्ली समुद्री लिंक को रोशन किया गया।

Advertisement