For the best experience, open
https://m.creativenewsexpress.com
on your mobile browser.

विद्यालयों में शिक्षण और संसाधनों में बेहतरी लाने पर खासा जोर

09:45 PM May 25, 2024 IST | CNE DESK
विद्यालयों में शिक्षण और संसाधनों में बेहतरी लाने पर खासा जोर
Advertisement

✍️ अल्मोड़ा डायट में पीएमश्री विद्यालयों की 03 दिनी क्षमता संवर्धन कार्यशाला सम्पन्न

Advertisement

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान अल्मोड़ा में प्रधानमंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया (PMSRI) से संबंधित विद्यालयों के प्रधानाचार्यों, प्रवक्ताओं, सहायक अध्यापकों की 03 दिवसीय क्षमता संवर्धन कार्यशाला का समापन हो गया है। जिसमें विद्यालयों में सीखने—सिखाने की प्रक्रिया में वृद्धि करने तथा संसाधनों को परिपूर्ण करने पर व्यापक चर्चा हुई।

Advertisement

कार्यशाला के समापन में मुख्य शिक्षा अधिकारी अंबादत्त बलोदी ने अपने संबोधन में कहा कि पूरे देश में पीएमश्री विद्यालयों को उत्कृष्टता केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। हमारे विद्यालयों को केंद्रीय विद्यालय तथा जवाहर नवोदय विद्यालयों के समकक्ष लाने के लिए मानवीय व भौतिक संसाधनों से परिपूर्ण किया जाएगा। श्री बलोदी ने शिक्षकों का आह्वान किया कि वे अपने विद्यालय के छात्र-छात्राओं के समग्र विकास के लिए कार्य योजना बनाना सुनिश्चित करें। इस मौके पर डायट प्राचार्य जीजी गोस्वामी ने कहा कि प्रशिक्षण में सीखे ज्ञान को अन्य शिक्षकों व पीटीएम के साथ साझा कर विद्यालय के विकास में अपनी अहम भूमिका का निर्वहन करें।

Advertisement

मुख्य संदर्भदाता के रूप में खंड शिक्षा अधिकारी भिकियासैंण डा. रवि मेहता ने मेंटल हेल्थ एवं वेलनेस तथा डिजिटल लर्निंग पर विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि पीएमश्री विद्यालयों में देशभर में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप 21वीं सदी के कौशल व मूल्यों से संबंधित समान शिक्षा व्यवस्था लागू की जा रही है। इससे सामाजिक एकता व समरसता को बल मिलेगा। मुख्य संदर्भदाता के रूप में डाइट के गोपाल सिंह गैड़ा ने कहा पीएम श्री विद्यालयों के लिए एक विशेष कार्य योजना बनाई जा रही है जिसमें विद्यालय में सीखने सिखाने की प्रक्रिया में वृद्धि होगी तथा बच्चों में व्यवसायिक दक्षता का विकास होगा। श्री गैड़ा ने कार्य योजना, टीएलएम कॉर्नर तथा बाला (BuildingAs learning Corner) व विभिन्न प्रकार के महोत्सवों में विद्यालय के कार्यों को समुदाय के साथ साझा व प्रदर्शित करने की जानकारी दी।

खंड शिक्षा अधिकारी लमगड़ा व धौलादेवी प्रेमा बिष्ट ने बालिकाओं के लिए सेल्फ डिफेंस से संबंधित जानकारी प्रदान की गई। खंड शिक्षा अधिकारी स्याल्दे वंदना रौतेला ने व्यवसायिक शिक्षा की जानकारी दी गई। डॉ. दीपा जलाल ने विद्यालय नेतृत्व से संबंधित जानकारी पीएमश्री विद्यालयों के प्रधानाचार्य व शिक्षकों को दी। डॉ. सरिता पांडे ने विद्यालयों में एक्शन प्लान व शिक्षक अभिभावक बैठक के विभिन्न आयामों पर अपनी बात रखी। अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन के रमाकांत शर्मा तथा रमेश सिंह रावत ने शिक्षा में इनोवेशन पर अपनी बात रखी। डॉ. प्रकाश पंत ने एनसीएफ पर चर्चा की। प्रशिक्षण में खंड शिक्षा अधिकारी द्वाराहाट तनूजा जोशी, डॉ. भुवन चंद पांडे, आरएस रावत, भारतेन्दु जोशी, रमेश चन्द्र पाण्डेय, विजया पंत, मुकेश रावत, माधव सिंह, भंवर सिंह, कविता, रक्षा जोशी, विनिता बिष्ट, तेज सिंह, रमेश राम, हरीश सिंह, डॉ. कपिल नयाल, राजेश बिष्ट, संजीव अहलावत, डॉ. अरविंद बिष्ट, राम सिंह जैनी, प्रीति पंत, अनिल मठपाल, राजलक्ष्मी रावत, भावना जोशी, संजय पांडे, तारा दत्त भट्ट समेत कुल 22पीएमश्री के प्रधानाचार्य व 43 शिक्षकों ने प्रतिभाग किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन जीएस गैड़ा ने किया।

Advertisement

Advertisement